बिना दवा उपचार यानी फिजियोथेरेपी

फिजियोथेरेपी आजकल उपचार की एक प्रमुख विधि के रूप में लोकप्रिय हो रही है। कई स्वास्थ्य समस्याओं में यह काफी उपयोगी साबित होती है। फिजियोथेरेपी ऐसी चिकित्सा पद्घति है, जिसमें दवाओं, इंजेक्शन और ऑपरेशन की आवश्यकता तो नहीं पड़ती, पर नियमितता और संयम काफी मायने रखते हैं।

उपचार प्रक्रिया

फिजियोथेरेपी में मशीनों की सहायता से यानी इलेक्ट्रो थेरेपी से रोग में राहत दिलायी जाती है। मशीनों में प्रमुख तौर पर टेंस, ट्रैक्शन, आईएफटी, लेजर, अल्ट्रासोनिक आदि मशीनों का इस्तेमाल होता है। इसके अलावा कुछ उपचार में वैक्स पद्घति का भी उपयोग होता है। इसकी उपचार पद्घति व्यायाम पर भी केंद्रित रहती है। डॉक्टर रोग के लक्षणों की जांच कर उसके अनुरूप व्यायाम और उपकरणों की मदद निर्धारित करते हैं। उपचार के लिए मरीजों को कई दिनों अथवा कई सप्ताह तक डॉक्टर की देखरेख में व्यायाम करना होता है। जो लोग दवाओं, इंजेक्शन, ऑपरेशन आदि से कतराते हैं, उनके लिए यह पद्घति काफी लाभदायक है, क्योंकि इसमें इलाज इन सबसे परे है। फिजियोथेरेपी से निम्न रोगों में लाभ मिलता है जैसे –
स्पोंडोलाइटिस
गठियाबायीं
कन्धा जाम
लकवा आदि l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *