माइग्रेन क्या है?

यकृतमाइग्रेन एक विशेष तरह का सिरदर्द है। आम सिरदर्द और माइग्रेन में अंतर होता है मगर अक्सर होने वाले सिरदर्द को लोग माइग्रेन ही मान लेते हैं। माइग्रेन एक तरह की न्यूरोलॉजिकल स्थिति होती है जिसमें सिरदर्द के अलावा भी कई लक्षण नजर आते हैं। इसमें रह-रह कर सिर में एक तरफ बहुत ही चुभन भरा दर्द होता है। ये कुछ घंटों से लेकर तीन दिन तक बना रहता है। इसमें सिरदर्द के साथ-साथ गैस्टिक, जी मिचलाने, उल्टी जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं। माइग्रेन का दर्द आम सिरदर्द से ज्यादा तेज होता है और ये सिरदर्द के मुकाबले ज्यादा गंभीर परेशानी है। आमतौर पर माइग्रेन का दर्द आधे सिर में ही महसूस होता है। इसके अलावा चक्कर आना और कमजोरी भी माइग्रेन के लक्षण हो सकते हैं।

माइग्रेन के कारण

  • माइग्रेन सिरदर्द के पीछे रक्‍तवाहिनियों का बड़ा होना और नर्व फाइबर्स की ओर से केमिकल का स्राव करने के संयुक्‍त कारण उत्‍तरदायी होते हैा
  • सिरदर्द के दौरान, खोपड़ी के बिलकुल नीचे स्थित धमनी बड़ी हो जाती है।इसकी वजह से एक केमिकल का स्राव होने लगता है, जो जलन, दर्द और रक्‍तवाहिनी को और चौड़ा करने का काम करता है।
  • हर समय चिंता करना
  • ज्यादा तनाव लेना
  • पर्याप्त पानी न पीना
  • महिलाओं में हार्मोनल बदलावों के कारण
  • बहुत धीमी या बहुत तेज रोशनी में अक्सर रहने के कारण
  • तेज आवाज में रहने के कारण हो सकता है माइग्रेन
  • दवाओं के साइड इफेक्ट के कारण

लक्षण-:

  • साधारण या तीव्र दर्द, जो सिर के एक या दोनों ओर हो सकता है
  • फड़कने जैसा दर्द
  • शारीरिक श्रम करने से दर्द बढ जाना
  • दर्द दैनिक क्रियाओं में अवरोध पैदा कर सकता है
  • जी मिचलाना, जिससे उल्टी भी हो सकती है
  • आवाज और प्रकाश के प्रति संवेदनशीलता
  • माइग्रेन आपका पाचन खराब कर सकता है।
  • कुछ लोगों में माइग्रेन के दौरान ब्लड प्रेशर लो हो जाता है।
  • इसका दर्द 4 से 72 घंटों तक रह सकता है।
  • कुछ लोगों को महीने में कई बार सिरदर्द हो सकता है, जबकि अन्य लोगों को इससे कम होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *