थाइरॉयड (Thyroid)- थायरॉयड, मधुमेह व हृदय रोग के बाद बड़ी संख्या में होने वाले रोगों में से एक है। इस बीमारी के लक्षणों को ज्‍यादा गंभीरता से नहीं लिया जाता क्योंकि ये लक्षण आयु बढऩे के साथ व रजोनिवृत्ति के समय ही पाए जाते हैं। इसी कारण से इस बीमारी के होने का पता नहीं चल पाता। पुरुषों की तुलना में महिलाओं को थायरॉयड की समस्या ज्यादा है। बढ़ती उम्र के साथ इसके बढ़ने का खतरा भी ज्यादा होता है। अगर व्यक्ति में थायरॉयड ग्लैंड अंडरएक्टिव है तो इसके विभिन्न संकेत और लक्षण भी नजर आते हैं

यह गर्दन के अग्रभाग में तितली के आकार की ग्रंथि है जो शारीरिक संतुलन बनाये रखती है l एक सामान्य वयस्क में इसका वजन 15 -18 ग्राम होता है जब यह असामान्य रूप से बढती है तो भार अधिक हो जाता है l थायरॉयड ग्रंथि के दो हार्मोन स्रावित होते है (थायरॉक्सिंन या T4) ( (ट्रइ – आयोडोथाइरोनिन या T3 ) l थायरॉयड ग्रंथि के सभी रोग दो प्रकार से प्रकट होते है –

1.Hypothyroidism
– लक्षण –

थकान और कमजोरी
रोगी का वजन बढ़ना
शीत असह्यता ,घेंघा ,
उच्च रक्तचाप बाँझपन ,गर्भपात आदि l

2. Hyperthyroidism
-लक्षण –

वजन का घटना
चिंता ,घबराहट
ज्यादा मात्रा में पानी पीना
बांझपन ,गर्भपात l

जाँचे –

TSH
T3
T4
E.C.G

NOTE-इसमे रोगी पैरों में दर्द ,सांस का फूलना जैसी समस्या बताता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *